प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मोबिलिटी शिखर सम्मेलन का किया उद्घाटन

0
27

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 7 सितंबर 2018 को नई दिल्ली में विश्व मोबिलिटी शिखर सम्मेलन का उद्घाटन किया। इस मौक़े पर प्रधानमंत्री ने आधुनिक यातायात व्यवस्था से जुड़ी प्रदर्शनी का अवलोकन किया। नीति आयोग ने दो दिवसीय शिखर सम्मेलन का आयोजन दिल्ली के विज्ञान भवन में किया है।

सम्मेलन में नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा कि आने वाले दिनों में भारत वैश्विक मोबिलिटी क्षेत्र में अहम योगदान देगा।नीति आयोग के कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने कहा कि बढते प्रदूषण के ख़तरे के मद्देनज़र नयी तकनीक आधारित वाहनों का इस्तेमाल ज़रुरी है। साथ ही सार्वजनिक परिवहन का इस्तेमाल करने की सुविधा और इसके विभिन्न पहलुओं के बारे में जागरूगता फैलाने की आवश्यकता है।

विश्व मोबिलिटी शिखर सम्मेलन के मुख्य तथ्यः

  • विश्व मोबिलिटी शिखर सम्मेलन का मक़सद ज़रुरतों के मुताबिक़ परिवहन व्यवस्था को तैयार करना है।
  • इसका मकसद ईंधन की ख़पत को कम करना है।
  • सार्वजनिक परिवहन को बढ़ावा देना है।
  • यातायात के साधन के बीच आसान संपर्क बनने पर ज़ोर है, ताकि आवाजाही सुगम हो और लोग आसानी से बस से मेट्रो, मेट्रो से रेल और हवाई अड्डे तक आ जा सके।
  • प्रदर्शनी में दुनिया की परिवहन कंपनियों ने हिस्सा लिया।
  • इन कंपनियों ने भविष्य में बढ़ती ज़रुरतों के मद्देनज़र विनिर्माण और स्वच्छ ईंधन की खपत वाले करने वाले वाहनों का भी खाका रखा।
  • ये वाहन स्पीड के साथ-साथ सुरक्षित, स्वच्छ और पर्यावरण के अनुकूल भी होगे।
  • इस कार्यक्रम में दुनियाभर से करीब 2,200 भागीदार शिरकत कर रहे है।
  • इनमें सरकारों, उद्योग, शोध संगठनों, अकादमियों और समाज के प्रतिनिधि शामिल है।
  • अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अमेरिका, जापान, सिंगापुर, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, न्यू जीलैंड, ऑस्ट्रिया, जर्मनी और ब्राजील के दूतावासों तथा निजी क्षेत्र के प्रतिनिधि सम्मेलन में हिस्सा ले रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here