दिल्ली में हुआ डोरस्टेप डिलिवरी योजना का शुभारम्भ

0
32

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को ड्रीम प्रॉजेक्ट डोरस्टेप डिलिवरी योजना का शुभारम्भ किया है। इस योजना के तहत लोग अपनी इच्छा से घर बैठे जन्म और जाति प्रमाण-पत्र, राशन कार्ड जैसे डॉक्युमेंट्स बनवा सकते हैं तथा इसके किसी भी सरकारी ऑफिस जाने की जरूरत नहीं होगी।

वर्तमान दिल्ली सरकार का दावा है कि ऐसा देश ही नहीं दुनिया में पहली बार हो रहा है जिसमें जनता को इन 40 सेवाओं के लिए सरकारी विभाग या दफ्तर में नहीं जाना पड़ेगा। सात सरकारी विभागों की 40 सेवाओं का लाभ घर बैठे उठाया जा सकता है।

डोरस्टेप डिलीवरी योजना

  • दिल्ली सरकार इन सभी 40 सेवाओं के लिए एक खास नंबर जारी करेगी।
  • आवेदक या सेवा लेने के इच्छुक व्यक्ति को उस नंबर पर फोन करके ‘मोबाइल सहायक’ से अपॉइंटमेंट तय करना होगा यानी सरकार के प्रतिनिधि को वो किस समय अपने घर बुलाना चाहता है ये तय करना होगा।
  • सुबह 8 से रात 8 बजे के बीच किसी भी समय आवेदक मोबाइल सहायक के लिए अपॉइंटमेंट तय कर सकता है।
  • तय समय के मुताबिक मोबाइल सहायक एक टैबलेट के साथ आवेदक के बताए पते पर आएगा और जरूरी दस्तावेज अपलोड करेगा।
  • प्रक्रिया पूरी होने के बाद मोबाइल सहायक 50 रुपये सुविधा शुल्क नाम की फीस वसूल करेगा जिसके बाद जो सर्टिफिकेट आवेदकों को चाहिए वह पोस्ट के जरिए उसके घर पहुंच जाएगा।

डोरस्टेप डिलीवरी में शामिल सेवाएं

डोरस्टेप डिलीवरी योजना में कई तरह की सेवाओं को शामिल किया गया है जैसे- जाति प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, शादी का रजिस्ट्रेशन, ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन, नया पानी या सीवर कनेक्शन या कटवाने के लिए आवेदन, इनकम सर्टिफिकेट, राशन कार्ड, निवास प्रमाण-पत्र, आरसी में पता बदलवाना आदि सुविधाओं का लाभ घर बैठे उठाया जा सकता है। इन सुविधाओं में शामिल विभागों की सूचि नीचे दी गई है। जिसमें ये भी बताया गया है कि इन विभागों के अंतर्गत कितनी सेवाओं का क्रियान्वयन किया जायेगा।

  • राजस्व विभाग – 15 सेवाएं
  • श्रम विभाग – 02 सेवाएं
  • दिल्ली जलबोर्ड – 04 सेवाएं
  • परिवहन विभाग – 11 सेवाएं
  • खाद्य आपूर्ति – 02 सेवाएं
  • समाज कल्याण – 03 सेवाएं
  • एससी/एसटी/ओबीसी/अल्पसंख्यक कल्याण विभाग – 03 सेवाएं

Q. दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डोरस्टेप डिलीवरी योजना का शुभारम्भ कब किया।
1. 5 सितम्बर 2018
2.10 सितम्बर 2018
3. 1 सितम्बर 2018
4. 8 सितम्बर 2018
उत्तर – 10 सितम्बर 2018

यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मोबिलिटी शिखर सम्मेलन का किया उद्घाटन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here